दुनिया

अंडर-17 विश्व कप फुटबॉल के लिए भारत तैयार

अंडर-17 विश्व कप फुटबॉल की शुरुआत आज से भारत में हो रही है. ये पहला मौका है जब फुटबॉल की शीर्षस्थ संस्था फीफा, भारत में कोई विश्वकप आयोजित कर रहा है.

Indien U 17 WM (Getty Images/AFP/P. Paranjpe)

भारत के छह शहरों, दिल्ली, मुंबई, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी और कोलकाता को मेजबानी की जिम्मेदारी मिली है. अंडर-17 विश्व कप में कुल 24 टीमें हिस्सा ले रही हैं जिन्हें छह ग्रुपों में बांटा गया है. ग्रुप ए में भारत, अमेरिका, कोलंबिया और घाना हैं. ग्रुप बी में पराग्वे, माली, न्यूज़ीलैंड और टर्की हैं. ग्रुप सी में ईरान, गिनी, जर्मनी और कोस्टारिका हैं. ग्रुप डी में कोरिया डीपीआर, नाईजर, ब्राजील हैं. ग्रुप ई में होंडुरास, जापान, न्यू कैलेडोनिया और फ्रांस हैं और ग्रुप एफ में इराक, मैक्सिको, चिली और इंग्लैंड की टीमें शामिल हैं.

Fußball FIFA U 17 Weltmeisterschaft in Indien (DW/A. Malhotra)

छह अक्टूबर से 28 अक्टूबर के दौरान 23 दिनों तक चलने वाले इस विश्व कप में कुल 52 मैच खेले जायेंगें. हिमालय की तलहटी में पाए जाने वाले छोटे आकार के तेंदुए को अंडर-17 विश्व कप का शुभंकर बनाया गया है और इसे ‘खेलियो' नाम दिया गया है. विश्व कप के क्वार्टरफाइनल मैच 21 और 22 अक्टूबर को, सेमीफाइनल मुकाबले 25 अक्टूबर को मुंबई और गुवाहाटी में होंगे जबकि फाइनल मैच 28 अक्टूबर को कोलकाता में खेला जाएगा.

Indien U 17 WM- Kolumbien v Ghana (picture-alliance/AP Photo/T. Topgyal)

प्रत्येक दो साल बाद होने वाले फुटबॉल का ये महाआयोजन 2007 से शुरू हुआ था और विश्व कप का छठा संस्करण भारत में आयोजित हो रहा है. अब तक हुए पांच वर्ल्ड कप में से तीन बार नाईजीरिया ने खिताब पर कब्जा जमाया है. जबकि एक बार स्विटज़रलैंड और एक बार मैक्सिको ने जीता है. 2007 से पहले फीफा अंडर 17 विश्व कप, अंडर-17 और अंडर-16 विश्व चैंपियनशिप के नाम से जाना जाता था.

भारतीय टीम का पहला मुकाबला दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में छह अक्टूबर को शाम आठ बजे यूएसए के खिलाफ होगा. इस मुकाबले को देखने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और फीफा के जनरल सेक्रेटरी फात्मा सामूरो भी मौजूद रहेंगे. टीम इंडिया की कप्तानी अमरजीत सिंह को दी गई है जो मणिपुर की ओर से खेलते हैं.

Fußball FIFA U 17 Weltmeisterschaft in Indien (DW/A. Malhotra)

21 सदस्यीय भारतीय दल में पूर्वोत्तर क्षेत्र के 10 खिलाड़ी हैं, इनमें केवल मणिपुर से ही 8 खिलाड़ियों को जगह मिली है. इनमें धीरजें मोईरंगथेम, बोरिस थांगजेम, सुरेश वांगजेम, निंग्थोइंग्बा मिटेई, जैकसन सिंह, नोंग्डाम्बा नोरेम और मोहम्मद शाहजहां शामिल हैं. इसके अलावा  एक-एक खिलाड़ी सिक्किम और मिजोरम से हैं. टीम के कोच लुई मातोस हैं, जिन्होंने भारतीय टीम पर पूरा भरोसा जताया है.

भारतीय टीम मौजूदा फीफा रैंकिंग में 107वें पायदान पर है. इस लिहाज़ से युवा वर्ग में फुटबॉल को और लोकप्रिय बनाने के लिए अंडर-17 विश्व कप का आयोजन काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है और उम्मीद यही जताई जा रही है कि ये टूर्नामेंट यंग इंडिया को प्रेरित करने में सहायक साबित होगा.  

Albanian Shqip

Amharic አማርኛ

Arabic العربية

Bengali বাংলা

Bosnian B/H/S

Bulgarian Български

Chinese (Simplified) 简

Chinese (Traditional) 繁

Croatian Hrvatski

Dari دری

English English

French Français

German Deutsch

Greek Ελληνικά

Hausa Hausa

Hindi हिन्दी

Indonesian Bahasa Indonesia

Kiswahili Kiswahili

Macedonian Македонски

Pashto پښتو

Persian فارسی

Polish Polski

Portuguese Português para África

Portuguese Português do Brasil

Romanian Română

Russian Русский

Serbian Српски/Srpski

Spanish Español

Turkish Türkçe

Ukrainian Українська

Urdu اردو