अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में गड़बड़ी

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन का कूलिंग सिस्टम खराब हुआ. नासा ने अंतरिक्ष यात्रियों से कहा, स्टेशन से बाहर निकल कर मरम्मत का काम किया जाए. स्टेशन में तीन रूसी और तीन अमेरिकी अंतरिक्ष वैज्ञानिक हैं.

धरती से 352 किलोमीटर ऊपर अंतरिक्ष स्टेशन में शनिवार रात को एकाएक अलार्म बज उठा. चेतावनी से पता चला कि स्टेशन के कूलिंग सिस्टम के सर्किट में खराबी आ गई है. गड़बड़ी की वजह से एक कूलिंग सिस्टम पूरी तरह बंद हो गया है.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि इसमें घबराने वाली बात नहीं है. अंतरिक्ष यात्रियों ने दो गियरोस्कोप बंद कर दिए हैं. स्टेशन को ठंडा रखने के लिए दूसरे उपकरणों का सहारा लिया जा रहा है. लेकिन ऐसा ज्यादा लंबे समय तक नहीं किया जा सकता है. कूलिंग सिस्टम के फेल होने की वजह से स्पेस स्टेशन के सूरज की तरफ वाले हिस्से का तामपान 121 डिग्री तक जा सकता है. जबकि अंधेरे वाले हिस्से का तापमान माइनस 127 डिग्री तक गिर सकता है.

कूलिंग सिस्टम में गड़बड़ी

नासा का कहना है कि तकनीकी गड़बड़ी को दूर करने के लिए अंतरिक्ष यात्रियों को निर्देश दे दिए गए हैं. उन्हें स्पेस स्टेशन से बाहर आकर मरम्मत का काम करना होगा. इमरजेंसी स्पेसवॉक की तैयारी कर ली गई है. नासा का कहना है, अमेरिका के डग व्हीलॉक और ट्रेसी काल्डवेल मरम्मत का काम करेंगे.

अंतरिक्ष में हवा और गुरुत्व बल न होने की वजह से यात्रियों को निर्वात में झूलते हुए मरम्मत का काम करना होगा. अंतरिक्ष स्टेशन पर ऐसी मरम्मतें पहले भी की जा चुकी हैं. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी के मुताबिक खराबी से तामपान बढ़ा जरूर है लेकिन सुरक्षा मानकों के पार नहीं गया है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एन रंजन

हमें फॉलो करें