आगे बढ़ना है या पीछे जाना है? यूरोपीय संघ के सामने फैसले की घड़ी

यूरोपीय संसद के चुनावों से यूरोपीय संघ के भविष्य का रास्ता तय होने वाला है. राष्ट्रवाद की ओर लौटना है या और बड़ी वैश्विक शक्ति बनने के लिए ज्यादा से ज्यादा एकीकरण की ओर, ब्रसेल्स से बैर्न्ड रीगर्ट की रिपोर्ट.

यूरोपीय संसद में क्रिस्चियन डेमोक्रेटिक खेमे के नेता मानफ्रेड वेबर ने एक महीने पहले संसद में कहा था, "26 मई को होने वाले चुनाव से इस पूरे महाद्वीप का भविष्य तय होना है." वेबर खुद भी 'यूरोपियन पीपल्स पार्टी' के उम्मीदवारों की सूची में टॉप पर हैं. हर खेमे के उम्मीदवार आने वाले यूरोपीय चुनावों को लगभग इसी तरह का महत्व दे रहे हैं. वेबर तो यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष का चुनाव भी लड़ना चाहते हैं. उनके विचार में इस बार लड़ाई सीधे सीधे यूरोप-समर्थकों और राष्ट्रवादियों के बीच है. वे कहते हैं, "आज हम जिस यूरोप में रहते हैं वह एक अच्छा यूरोप है. हम आज कल के राष्ट्रवादियों को इसे बर्बाद नहीं करने देंगे."

इन चुनावों में दिख रहे यूरोप-विरोधी और दक्षिणपंथी पॉपुलिस्ट ईयू के सदस्य देश इतनी बड़ी संख्या में पहले कभी नहीं रहे. जनमत सर्वेक्षण से लगातार इशारा मिल रहा है कि वे 20 फीसदी से अधिक सीटें जीत सकते हैं.

ओरबान का यूरोप या माक्रों का?

हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ओरबान इन चुनावों को अपने तरह के रूढ़िवादी लोकतंत्र और उदारवादी डेमोक्रैट्स के बीच का संघर्ष मानते हैं. वे खुद को जर्मन, फ्रेंच, डेनिश और इतालवी दक्षिणपंथी पार्टियों के साथ खड़ा मानते हैं. उनका दावा है कि उदारवादी डेमोक्रैट्स यूरोप की आबादी की "अदला बदली" और आप्रवासियों को लाकर "इस्लामीकरण” करना चाहते हैं. हाल ही में ओरबान ने कहा था कि "जो लोग अवैध आप्रवासियों और शरणार्थियों का स्वागत कर रहे हैं, वह मिश्रित नस्ल वाले देश बना रहे हैं. ऐसे देशों में ऐतिहासिक परंपराएं मिट जाती हैं और एक नया विश्व क्रम उभरता है."

दो अलग ध्रुवों जैसे हैं माक्रों और ओरबान

वहीं दूसरी ओर, फ्रेंच राष्ट्रपति एमानुएल माक्रों एक ऐसे नेता की मिसाल हैं - जिसके खिलाफ ओरबान, इटली के गृह मंत्री माटियो साल्विनी या ऑस्ट्रिया फ्रीडम पार्टी के नेताओं जैसी दक्षिणपंथी ताकतें खड़ी हैं. माक्रों ने तो सीधे सीधे "अनुदार लोकतंत्र" के खिलाफ जंग छेड़ी और यूरोप में एकजुटता और दया का एक नया "पुनर्जागरण" लाने का आह्वान किया है. कई सुधार लाने की कोशिश कर रहे माक्रों भी इस चुनाव को बेहद अहम मानते हैं. माक्रों ने हाल ही में इन चुनावों को "यूरोप में विश्वास रखने वालों और ना रखने वालों के बीच का संघर्ष" करार दिया था.

केवल आप्रवासन ही मुद्दा नहीं

यूरोप की हिमायती पार्टियां मानती है कि आने वाले सालों में ईयू को जिन मुद्दों को सुलझाना है उनमें आप्रवासन, जलवायु संरक्षण, व्यापार नीति और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यूरोप के लिए एक मजबूत भूमिका का निर्माण करना है. जैसे कि वेबर की यूरोपियन पीपल्स पार्टी चाहती है कि अफ्रीका के साथ नई साझेदारियां बनाई जाएं और उन देशों में निवेश पर ज्यादा ध्यान दिया जाए, जहां से शरणार्थी आते हैं.

यूरोपीय चुनावों को समझें

कब होंगे यूरोपीय चुनाव?

2019 में यूरोपीय संसद के चुनाव 23 से 26 मई के बीच होंगे.

यूरोपीय चुनावों को समझें

कौन कौन लेगा हिस्सा?

इन चुनावों में यूरोपीय संघ के सभी 28 सदस्य देशों के मतदाता हिस्सा लेंगे.

यूरोपीय चुनावों को समझें

कितने वोटर हैं?

यूरोपीय संघ के कुल 40 करोड़ लोग इन चुनावों में वोट दे सकते हैं.

यूरोपीय चुनावों को समझें

क्या ब्रिटेन भी लेगा हिस्सा?

जी हां, क्योंकि ब्रिटेन अब तक ईयू से अलग नहीं हुआ है, इसलिए पांच करोड़ वोटर ब्रिटेन के हैं.

यूरोपीय चुनावों को समझें

संसद में कितनी सीटें?

यूरोपीय संसद में कुल 751 सीटें हैं. सभी सदस्य देशों के लिए सीटों की संख्या तय है.

यूरोपीय चुनावों को समझें

किसके पास हैं सबसे ज्यादा सीटें?

जर्मनी के पास सबसे ज्यादा 96 सीटें हैं. इसके बाद 74 सीटों के साथ फ्रांस का और 73 के साथ ब्रिटेन का नंबर आता है.

यूरोपीय चुनावों को समझें

ब्रेक्जिट के बाद क्या होगा?

ईयू से अलग होने के बाद ब्रिटेन की सीटों में से 27 सीटों को बाकी के सदस्य देशों में बांटा जाएगा. 46 सीटें रद्द कर दी जाएंगी.

यूरोपीय चुनावों को समझें

क्या छोटी हो जाएगी संसद?

जी हां, 46 सीटों के रद्द होने के कारण यूरोपीय संसद में ब्रेक्जिट के बाद 705 सीटें ही बचेंगी.

यूरोपीय चुनावों को समझें

कहां स्थित है यूरोपीय संसद?

संसद का काम तीन जगहों से होता है. प्रशासनिक कार्यालय लक्जमबर्ग में हैं और संसद की बैठकें ब्रसेल्स और स्ट्रासबुर्ग में होती हैं.

यूरोपीय चुनावों को समझें

अगले चुनाव कब होंगे?

भारत के आम चुनाव की तरह यूरोपीय संसद के चुनाव भी हर पांच साल पर होते हैं. अगले चुनाव 2024 में होंगे.

दक्षिणपंथी पार्टियों के लिए मुद्दा केवल एक ही लगता है, वह है यूरोप को अलग रखना, ऐसी बाधाएं डालना जिससे आप्रवासी बाहर ही रहें. हंगरी के विदेश मंत्री पेटर सिजार्तो का कहना है, "हमारा सबसे अहम मकसद एक आप्रवासन-रोधी बहुमत को लाना है और हंगरी इसमें मदद करेगा."

पॉपुलिस्ट पार्टियां अपने वोटरों से एक ऐसा यूरोप बनाने का वादा कर रही हैं जो आज से बिल्कुल अलग हो, जिसमें देशों को उनके वे सब अधिकार वापस मिलेंगे जिन्हें कथित तौर पर उन्होंने गंवा दिया है, और जिसमें ब्रसेल्स की शक्तियां घटा दी जाएंगी. ब्रसेल्स में यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष फ्रांस टिमरमन्स को इन बातों में कोई दम नहीं दिखता. वे कहते हैं, "हम यूरोप के चरमपंथियों के हाथों में शक्ति नहीं सौंपने वाले. हमारी किस्मत ये चुनाव तय करेंगे. लोग तय करेंगे कि अगले पांच सालों के लिए यूरोप कैसा होना चाहिए."

लचीला है यूरोपीय लोकतंत्र

ब्रसेल्स के एक थिंक टैंक, यूरोपियन पॉलिसी सेंटर में यूरोप विशेषज्ञ यानिस एमानुलिडिस का मानना है कि नई संसद ऐसी होगी जिसमें मजबूरन क्रिस्चियन डेमोक्रैट्स, सोशल डेमोक्रैट्स, लिबरल और ग्रीन पार्टियों को एक महागठबंधन के रूप में मिल कर काम करना होगा. वह नहीं मानते कि यह चुनाव ईयू के वर्तमान स्वरूप को बिल्कुल बदल देने वाला है. एमानुलिडिस ने बताया, "हमें ज्यादा नकारात्मक होने की जरूरत नहीं है. इन खतरों पर ध्यान देना चाहिए लेकिन इन्हें बढ़ा चढ़ा कर भी नहीं देखना चाहिए. पूर्व में भी ईयू ने काफी लचीलापन दिखाया है और भविष्य में भी ऐसा होगा."

यूरोप जैसे कर्ज संकट और शरणार्थी संकट से उबरा है वैसे ही नई संसद को नए तरह के संकटों का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा. एमानुलिडिस बताते हैं कि यह संकट अर्थव्यवस्था और अमेरिका, रूस या चीन जैसे देशों के साथ संबंधों पर काफी निर्भर करेगा.

ब्रसेल्स के ही सेंटर फॉर यूरोपीयन पॉलिसी स्टडीज के सीईओ कारेल लानू कहते हैं कि ईयू को सबसे ज्यादा ध्यान आर्थिक विकास पर देने की जरूरत है. उसे अमीर उत्तरी हिस्से और गरीब दक्षिण के बीच के जीवन स्तर के बीच के अंतर को पाटने की जरूरत है. उनका मानना है कि दक्षिणपंथी पॉपुलिज्म की समस्या को सुलझाने का यही सबसे असल तरीका होगा.

आरपी/एनआर

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

ऑस्ट्रिया

राजधानी: वियना । भाषा: जर्मन । ईयू सदस्य: 1995 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 83,900 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 85,76,261 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 18

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

बेल्जियम

राजधानी: ब्रसेल्स । भाषा: डच, फ्रेंच, जर्मन । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 30,500 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,12,58,434 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 21

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

बुल्गारिया

राजधानी: सोफिया । भाषा: बल्गेरियन । ईयू सदस्य: 2007 से । मुद्रा: बल्गेरियन लेव । शेंगेन सदस्य: बनने की प्रक्रिया में । क्षेत्रफल: 1,11,000 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 72,02,198 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 17

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

क्रोएशिया

राजधानी: जागरेब । भाषा: क्रोएशियन । ईयू सदस्य: 2013 से । मुद्रा: क्रोएशिय कूना । शेंगेन सदस्य: नहीं । क्षेत्रफल: 56,500 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 42,25,316 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 11

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

चेषिया

राजधानी: प्राग । भाषा: चेक । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: चेक कोरूना । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 78,900 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,05,38,275 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 21

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

साइप्रस

राजधानी: निकोसिया । भाषा: ग्रीक । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2008 से । शेंगेन सदस्य: बनने की प्रक्रिया में । क्षेत्रफल: 9,300 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 8,47,008 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 6

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

डेनमार्क

राजधानी: कोपेनहैगन । भाषा: डेनिश । ईयू सदस्य: 1973 से । मुद्रा: डेनिश क्रोन । शेंगेन सदस्य: 2001 से । क्षेत्रफल: 42,900 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 56,59,715 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 13

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

एस्तोनिया

राजधानी: तालिन । भाषा: एस्तोनियन । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2011 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 45,200 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 13,13,271 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 6

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

फिनलैंड

राजधानी: हेलसिंकी । भाषा: फिनिश, स्वीडिश । ईयू सदस्य: 1995 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 2001 से । क्षेत्रफल: 3,38,400 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 54,71,753 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 13

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

फ्रांस

राजधानी: पेरिस । भाषा: फ्रेंच । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 6,32,800 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 6,64,15,161 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 74

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

जर्मनी

राजधानी: बर्लिन । भाषा: जर्मन । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 3,57,800 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 8,11,97,537 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 96

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

ग्रीस

राजधानी: एथेंस । भाषा: ग्रीक । ईयू सदस्य: 1981 से । मुद्रा: यूरो, 2001 से । शेंगेन सदस्य: 2000 से । क्षेत्रफल: 1,32,000 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,08,58,018 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 21

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

हंगरी

राजधानी: बुडापेश्ट । भाषा: हंगेरियन । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: फोरिंट । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 93,000 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 98,55,571 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 21

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

आयरलैंड

राजधानी: डब्लिन । भाषा: आइरिश, अंग्रेजी । ईयू सदस्य: 1973 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: नहीं । क्षेत्रफल: 69,800 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 46,28,949 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 11

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

इटली

राजधानी: रोम । भाषा: इटैलियन । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1997 से । क्षेत्रफल: 3,02,100 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 6,07,95,612 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 73

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

लाटविया

राजधानी: रीगा । भाषा: लाटवियन । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2014 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 64,600 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 19,86,096 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 8

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

लिथुआनिया

राजधानी: विल्नियुस । भाषा: लिथुएनियन । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2015 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 65,300 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 29,21,262 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 11

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

लक्जमबुर्ग

राजधानी: लक्जमबुर्ग । भाषा: फ्रेंच, जर्मन । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 2,600 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 5,62,958 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 6

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

माल्टा

राजधानी: वालेटा । भाषा: माल्टीज, अंग्रेजी । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2008 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 300 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 4,29,344 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 6

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

नीदरलैंड्स

राजधानी: एम्स्टरडम । भाषा: डच । ईयू सदस्य: 1958 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 41,500 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,69,00,726 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 26

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

पोलैंड

राजधानी: वारसॉ । भाषा: पोलिश । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: स्लोती । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 3,12,700 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 3,80,05,614 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 51

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

पुर्तगाल

राजधानी: लिसबन । भाषा: पुर्तगीज । ईयू सदस्य: 1986 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 92,200 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,03,74,822 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 21

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

रोमानिया

राजधानी: बुखारेस्ट । भाषा: रोमेनियन । ईयू सदस्य: 2007 से । मुद्रा: रोमेनियन लेऊ । शेंगेन सदस्य: बनने की प्रक्रिया में । क्षेत्रफल: 2,38,400 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 1,98,70,647 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 32

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

स्लोवाकिया

राजधानी: ब्रातिस्लावा । भाषा: स्लोवाक । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2009 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 49,000 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 54,21,349 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 13

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

स्लोवेनिया

राजधानी: लुबलियाना । भाषा: स्लोवेनियन । ईयू सदस्य: 2004 से । मुद्रा: यूरो, 2007 से । शेंगेन सदस्य: 2007 से । क्षेत्रफल: 20,300 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 20,62,874 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 8

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

स्पेन

राजधानी: मैड्रिड । भाषा: स्पैनिश । ईयू सदस्य: 1986 से । मुद्रा: यूरो, 1999 से । शेंगेन सदस्य: 1995 से । क्षेत्रफल: 5,06,000 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 4,64,49,565 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 54

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

स्वीडन

राजधानी: स्टॉकहोम । भाषा: स्वीडिश । ईयू सदस्य: 1995 से । मुद्रा: स्वीडिश क्रोना । शेंगेन सदस्य: 2001 से । क्षेत्रफल: 4,38,600 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 97,47,355 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 20

ये हैं यूरोपीय संघ के सदस्य देश

यूनाइटेड किंगडम

राजधानी: लंदन । भाषा: अंग्रेजी । ईयू सदस्य: 1973 से । मुद्रा: पाउंड स्टर्लिंग । शेंगेन सदस्य: नहीं । क्षेत्रफल: 2,48,500 वर्ग किलोमीटर । जनसंख्या: 6,48,75,165 । यूरोपीय संसद में सदस्य: 72

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

हमें फॉलो करें