इतिहास में आज: 22 मई

सबसे ऊंची इमारत कितनी ऊंची हो सकती है इसकी कल्पना बार बार दुनिया भर में बनती और टूटती रही है. दुबई के बुर्ज खलीफा और चीन के कैंटन टावर के बाद जापान ने अपनी सबसे ऊंची इमारत टोक्यो स्काई ट्री तैयार की.

634 मीटर ऊंचाई वाली इस इमारत का नाम 17 नवंबर 2011 को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत के रूप में दर्ज हुआ. 2012 में आज ही के दिन टोक्यो स्काई टावर का उद्घाटन हुआ और इसके रेस्तरां और शॉपिंग मॉल के दरवाजे आम लोगों के लिए खोल दिए गए.

ताना बाना | 21.05.2013

स्काई टावर का खास मकसद उसे ब्रॉडकास्टिंग टावर के रूप में खड़ा करना भी था. इस इमारत की एक और खासियत है इसकी भूकंप झेलने की क्षमता. ढांचे का मुख्य आंतरिक खंबा टावर के जमीन से 125 मीटर ऊपर बाहरी हिस्से से इस तरह से जुड़ा है कि पूरे ढांचे को मजबूती देता है. वहां से लेकर 375 मीटर तक की ऊंचाई तक यह खंबा बीच में तेल की परतों के साथ इमारत से जुड़ा है. इसकी वजह से भूकंप की स्थिति में ये परतें गद्दे का काम करती हैं.

हमें फॉलो करें