एएफसी एशियन कप मेंं हिस्सा लेने पहुंची भारतीय टीम

5 जनवरी के 1 फरवरी तक संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में चलने वाले एएफसी एशियन कप में मुकाबले के लिए भारतीय फुटबाल टीम भी पूरी तैयारी के साथ वहां पहुंची है. फीफा की टॉप-100 टीमों में शामिल है भारतीय टीम.

मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन की देखरेख में भारतीय फुटबाल टीम पांच जनवरी से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में शुरू हो रहे एएफसी एशियन कप में खेलने के लिए तैयार है. मुकाबला 5 जनवरी के 1 फरवरी तक चलेगा. 

'ब्लू टाइगर्स' नाम से मशहूर भारतीय टीम चौथी बार और आठ साल के अंतराल के बाद एएफसी एशियन कप में हिस्सा ले रही है. भारत ने किर्गिज गणराज्य, म्यांमार और मकाउ के साथ हुए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के माध्यम से 24 टीमों की इस प्रतियोगिता के लिए स्थान सुरक्षित किया है.

भारत को ग्रुप-ए में बहरीन, थाईलैंड और मेजबान यूएई के साथ रखा गया है. भारतीय टीम अपना पहला मैच छह जनवरी को अबू धाबी में थाईलैंड के खिलाफ खेलेगी.

एएफसी की आधिकारिक ट्रॉफी

अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने इस टूर्नामेंट के लिए 23 खिलाड़ियों को चुना है. इन 23 खिलाड़ियों में से 22 इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में खेलते हैं जबकि एक खिलाड़ी आई-लीग क्लब के लिए खेलता है.

यूएई के इस स्टेडियम में होगी सारी हचलच

कांस्टेनटाइन के मार्गदर्शन में भारतीय टीम फीफा रैंकिंग में 170वें स्थान से टॉप-100 में पहुंच गई है. साल 2015 के एशियन कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाने के बाद इस साल भारत ने एशियन कप क्वालीफाईंग के लिए स्थान सुरक्षित किया. इस दौरान भारत ने लगातार 13 मैच जीते.

आईएएनएस

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

मेजबान कतर

1971 में स्वतंत्र देश बना कतर फुटबॉल का सबसे बड़ा आयोजन करने जा रहा है. फुटबॉल के साथ यह कतर का पहला अनुभव है लेकिन इसके पहले 2006 में कतर ने एशियाई खेलों की मेजबानी की थी. वहीं 2015 के हैंडबॉल, 2016 में साइक्लिंग और 2018 में जिमनास्टिक की विश्व चैंपियनशिप की मेजबानी भी कर चुका है. 2019 में एथलेटिक्स और 2023 में तैराकी की विश्व चैंपियनशिप भी वहीं हो रही है.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

कितना सुरक्षित

राजनीतिक लिहाज से कतर स्थिर है. यहां आतंकवाद जैसा कोई खतरा नहीं है, साथ ही अपराध दर भी न के बराबर है. स्थानीय लोग बताते हैं कि कई बार वे घर के बाहर खड़ी कारों को ताले भी नहीं लगाते. हालांकि कतर के लिए फुटबॉल फैंस की इतनी बड़ी जमात को संभालना एक नया अनुभव होगा. आयोजक इसे सुरक्षित बनाने के लिए ब्रिटेन और फ्रांस के विशेषज्ञों की मदद भी ले रहे हैं.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

बारिश होगी या ठंड

आमतौर पर फुटबॉल विश्वकप का आयोजन जून और जुलाई जैसे गर्मी वाले महीनों में किया जाता है, लेकिन कतर की गर्मियों में पारा 50 डिग्री के पार चला जाता है. इसलिए 2022 के टूर्नामेंट को नवंबर और दिसंबर में खिसका दिया गया है. इन महीनों में तापमन 25 से 30 डिग्री रह सकता है. सारे स्टेडियमों में एसी सिस्टम लगाया गया है, जिसकी शायद ही जरूरत पड़े लेकिन ठंड के दिनों में वहां बारिश जरूर हो सकती है.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

कैसे मिलेगी शराब

शराब कतर में मिल तो जाती है लेकिन इसे लेकर काफी प्रतिबंध भी हैं. देश के चुनिंदा बार और होटल ही शराब पिलाते हैं. निजी कार्यक्रमों के लिए शराब देने वाली पूरे देश में एक ही दुकान है जो सिर्फ विदेशियों को पूरे नियम कायदे के बाद सीमित मात्रा में शराब देती है. हालांकि विश्वकप के दौरान शराब बेचने की योजनाएं बनाई जा रहीं हैं लेकिन शराब स्टेडियम में मिलेगी या नहीं, यह साफ नहीं है.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

कहां रहेंगे फैंस

कतर की राजधानी में फाइव स्टार होटलों से लेकर सस्ते और मध्यम दर्जे के भी कई होटल हैं. कई जगह निर्माण कार्य चल रहा है. आयोजक विश्वकप के बाद ठहर जाने वाली भीड़ से बचना चाहते हैं, इसलिए एक बड़ा बंदोबस्त शहर के बाहरी इलाकों में जहाजों, क्रूज और खास टेंटों में भी किया गया है.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

कैसी नपेगी दूरी

दोहा के जिन चार स्टेडियम में मैचों का आयोजन होना है, उनमें से तीन पास-पास हैं. वहीं एक स्टेडियम शहर से 35 किलोमीटर की दूरी पर है. इन सभी स्टेडियमों तक पहुंचने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट, बस या टैक्सी का इस्तेमाल किया जा सकता है. इसी के साथ देश में मैट्रो लाइनों को तैयार करने का भी काम चल रहा है.

कतर में कैसा होगा फुटबॉल विश्वकप?

महिलाओं के कपड़े

कतर में महिलाएं पारंपरिक रूप से सिर ढंकती हैं. सार्वजनिक जीवन में कुछ महिलाएं पर्दा भी करती हैं लेकिन ये कानून विदेशी महिलाओं पर लागू नहीं होते. हालांकि सऊदी अरब में महिलाओं को पारंपरिक परिधान ही पहनने होते हैं लेकिन कतर में विदेशी महिलाएं अपने साधारण कपड़े मसलन स्कर्ट, टॉप, जींस आदि में घूम सकती हैं.

हमें फॉलो करें