कोठों की कथा बदलती कट-कथा

गीतांजलि जब दिल्ली के जीबी रोड स्थित कोठों के पास से गुजरती हैं तो वहां काम करने वाली सेक्सवर्कर उन्हें गले लगाती और ढेर सारा प्यार देती हैं. जीबी रोड दिल्ली के सबसे बदनाम इलाके के रूप में मशहूर है.

दिल्ली के सबसे बदनाम इलाके के रूप में मशहूर जीबी रोड पर सामान्य तौर पर लोग आने से कतराते हैं लेकिन गीतांजलि बब्बर को इससे जरा भी फर्क नहीं पड़ता. गीतांजलि यहां काम करने वाली सेक्सवर्करों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश कर रही हैं. गीतांजलि उन्हें दीदी पुकारती हैं और कहती हैं कि यह प्यार का मोहल्ला है, जहां सिर्फ प्यार और सपने भरे हुए हैं. गीतांजलि बब्बर ने अपनी नौकरी को छोड़ समाज की सबसे ज्यादा उपेक्षित महिलाओं के लिए काम करने का फैसला किया तो कई लोगों को यह अटपटा सा लगा. उन्होंने समाज की परवाह न करते हुए अपने सपने और संकल्प का पीछा किया और दिल्ली के जीबी रोड इलाके में काम करने वाली महिलाओं को सशक्त करने का बीड़ा उठाया.

गीतांजलि बब्बर के कट कथा के प्रयासों से इलाके की महिलाओं में साहस आया है.

आज जीबी रोड पर दीदीयां आत्मविश्वास हासिल कर रही हैं और अपने अधिकारों के बारे में जागरुक हो रही हैं. गीतांजलि कहती हैं कि वे समाज के उस तबके के लिए काम कर रही हैं जिससे दुनिया ने मुंह फेर लिया है. जीबी रोड का माहौल ऐसा है कि यहां लोग आने से कतराते हैं और स्वयंसेवी भी यहां काम करने से हिचकिचाते हैं. असुरक्षित और बदनाम इलाका होने के बावजूद गीतांजलि और कट-कथा की टीम यहां पिछले साढ़े चार साल से दीदी और उनके बच्चों को शिक्षित और सशक्त करने की दिशा में काम कर रही हैं. गीतांजलि यहां दीदीयों से ऐसे गले मिलती हैं मानो कोई बेटी अपनी मां से मिल रही हो. बच्चों के साथ भी कट-कथा के लोग भी उसी तरह से पेश आते हैं, मानो बच्चे उनके ही परिवार के सदस्य हों. गीतांजलि के मुताबिक, "वैसे तो हम एक संस्था हैं लेकिन हम अपने आपको एक परिवार कहलाना पसंद करते हैं. दुनिया के लिए भले ही यह संस्था है लेकिन स्वयंसेवक और सदस्य इसे एक परिवार की ही तरह देखते हैं."

जीबी रोड के सेक्सवर्कर

दिल्ली के जीबी रोड में 77 वेश्यालय हैं, जबकि करीब 4,400 महिलाएं और लड़कियां यहां बतौर यौनकर्मी काम करती हैं और करीब 1500 बच्चे यहां रहते हैं, जो इसे उत्तर भारत का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया बनाता है. गीतांजलि कहती हैं, "पहले उन्हें लगता था कि वे सिर्फ और सिर्फ सेक्स करने के लिए ही बनीं हैं लेकिन जब वे हमारे संपर्क में आई और उन्हें जब अपनी रूचि उभारने और हुनर सीखने का मौका मिला तो उनके अंदर गजब का आत्मविश्वास पैदा हुआ." संकरी गलियों और ऊंची सीढ़ियों को पार कर जब मैं गीतांजलि और उनकी टीम के साथ एक कोठे में पहुंचा तो वहां काम करने वाली एक दीदी ने गीतांजलि को बड़े प्यार से गले लगाया और अपने हाथों द्वारा बनाई गई नोट बुक के बारे में बताया. 40-45 साल की वह दीदी बेहद खुश नजर आई और उसने हमें यह भी बताया कि उसका अपना फेसबुक अकाउंट है, जिसका इस्तेमाल वह नए दोस्त बनाने के लिए करती है. कट-कथा टीम द्वारा किया गया प्रयास मुझे कोठों में काम करने वाली अनगिनत महिलाओं में नजर आया.

कंडोम से लव-हेट का नाता

एचआईवी का खतरा

दुनिया में सबसे अधिक एचआईवी संक्रमित लोग दक्षिण अफ्रीका में है. लगभग हर 10 में से एक व्यक्ति एड्स के साथ जी रहा है. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सरकारी स्वास्थ्य विभाग वहां कई रंगों और सुगंध वाले मुफ्त कंडोम बंटवाते हैं.

कंडोम से लव-हेट का नाता

खुल कर बात जरूरी

सेक्स के बारे में आज भी खुलकर बात नहीं होती. सेक्स से संबंधित साहित्य, फिल्में या पॉर्नोग्राफिक वीडियो की बढ़ती बिक्री इस बात का प्रमाण हैं कि लोगों की इस विषय में बहुत अधिक दिलचस्पी तो है, लेकिन सुरक्षित सेक्स, यौन संक्रमणों या गर्भापात जैसे विषय अब भी टैबू समझे जाते हैं.

कंडोम से लव-हेट का नाता

फीमेल कंडोम

आसानी से उपलब्ध होने के बावजूद पश्चिमी देशों तक में अभी महिलाओं के लिए बने खास कंडोम को ज्यादा लोकप्रियता नहीं मिली है. एड्स के गंभीर खतरे का सामना करने वाले अफ्रीकी देश मोजांबिक में कुछ एनजीओ फीमेल कंडोम को बढ़ावा देने पर जोर लगा रहे हैं.

कंडोम से लव-हेट का नाता

खतने से बचाव

अफ्रीकी देश यूगांडा में 1980 के दशक में कुल जनसंख्या के करीब 30 फीसदी लोग एचआईवी से संक्रमित पाए गए. 2005 तक संक्रमण की दर गिर कर 6.5 प्रतिशत पर आ गई. लेकिन फिर से बढ़ते इंफेक्शनों का सामना करने के लिए डॉक्टर वयस्क पुरुषों में खतने की सलाह दे रहे हैं.

कंडोम से लव-हेट का नाता

सेक्स पर धारावाहिक

लेखक और निदेशक बियी बन्डैले नाइजीरिया में अमेरिकी टीवी सीरियल सेक्स-एड की तर्ज पर एक धारावाहिक बनाते हैं. शुगा नाम का ये सीरियल मनोरंजक तरीके से यौन स्वास्थ्य के प्रति रवैया बदलने पर आधारित है.

कंडोम से लव-हेट का नाता

एड्स को मिटाएगी जानकारी

दुनिया भर के मेडिकल विशेषज्ञ इस बात को मानते हैं कि 50 साल के अंदर एड्स को पूरी तरह मिटाना संभव है. लेकिन सबसे बड़ी मुश्किल है कि इसके खतरे वाले हाई-रिस्क ग्रुप को सुरक्षित और शिक्षित किए बिना ऐसा मुमकिन नहीं होगा.

कंडोम से लव-हेट का नाता

सुपर कंडक्टिव - ग्रैफीन कंडोम

कंडोम के क्षेत्र में नई नई खोजें हो रही हैं. 2004 में जिस अति प्रवाहकीय, अति मजबूत पदार्थ ग्रैफीन की खोज के लिए नोबेल पुरस्कार मिला था, अब उसका एक महत्वपूर्ण इस्तेमाल सामने आया है. इससे बेहतर कंडोम बनाने की कोशिश हो रही है.

कंडोम से लव-हेट का नाता

लेटेक्स का स्रोत

दुनिया भर के करीब 40 फीसदी कंडोम लेटेक्स से बनते हैं. लेटेक्स रबड़ के पेड़ों से निकाला जाता है. ब्राजील के अमेजन के जंगल और चीन में इनका बहुत बड़ा भंडार है.

कट-कथा के मुताबिक इन कोठों में काम करने वाली ज्यादातर महिलाओं के पास पहचान पत्र नहीं है. कट-कथा ऐसी महिलाओं को समाज में पहचान दिलाने के लिए वोटर पहचान पत्र बनवाने में मदद कर रही है. अब तक 350 महिलाएं वोटर कार्ड बनवाने में सफल रही हैं. साथ ही संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यूआईडी के साथ मिलकर आधार कार्ड बनवाने की दिशा में भी काम कर रही है. कट-कथा ने इन महिलाओं को आर्थिक तौर पर सशक्त करने के लिए बैंक खाता खुलवाने का भी कार्यक्रम चला रखा है. यही नहीं गीतांजलि और उनकी संस्था ने जीबी रोड पर काम करने वाली महिलाओं को एकजुट करने के लिए भी कई कार्यक्रम चलाए हैं. जीबी रोड की दुनिया बेहद अंधेरी और अकेलेपन से भरी है. समाज में इन महिलाओं को एकजुट करने के लिए कट-कथा इन्हें शिल्प कला, फोटो फ्रेम, कान के झुमके आदि बनाना सिखाती है, जिससे वह हुनरमंद हो सके और अपना आर्थिक विकास कर पाने में सफल हो.

बढता आत्मविश्वास

कट कथा के कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि आर्थिक विकास होने के बाद वह खुद इस धंधे को छोड़ पाएंगी. कट-कथा इन महिलाओं को आपस में मेल-जोल बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित भी करती है जिससे वे अपने अकेलेपन को दूर कर सके और अपना दर्द बांट सके. गीतांजलि कहती हैं, "मैं पूरी तरह से यह नहीं कह सकती कि सभी दीदीयां सशक्त हो पाईं हैं या फिर आत्मनिर्भर हो गई हैं. लेकिन मैं इतना जानती हूं कि जिन कमरों में हमारे बच्चे रहते हैं वहां उनकी माताओं में गजब का आत्मविश्वास आया है. कट-कथा के जरिए उन्हें एक तरह का सपोर्ट सिस्टम मिला है जिससे उनके अंदर आत्मविश्वास का स्तर खुद बखुद बढ़ा है. हां, हम कुछ महिलाओं की जिंदगी में बदलाव जरूर लाए हैं."

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

नीदरलैंड्स और बेल्जियम

देह व्यापार में एम्सटर्डम का रेड लाइट एरिया शायद दुनिया का सबसे मशहूर हिस्सा है. अन्य देशों से विपरीत, जहां लोग छिप छिपा कर रेड लाइट एरिया में जाते हैं, एम्सटर्डम में टूरिस्ट खास तौर से इस इलाके को देखने पहुंचते हैं. बेल्जियम में भी देह व्यापार कानूनी है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

फ्रांस और जर्मनी

इन दोनों देशों में देह व्यापार को नियंत्रित करने के लिए कड़े नियम हैं. जर्मनी के कुछ शहरों में यौनकर्मियों को सड़कों पर ग्राहक खोजने के लिए खड़े होने की अनुमति नहीं है. वहीं फ्रांस में 2014 में नया कानून लागू किया गया जिसके तहत सेक्स के लिए पैसे देना अपराध है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

स्वीडन और नॉर्वे

फ्रांस ने जो कानून लागू किया है, उसकी शुरुआत 1999 में पहली बार स्वीडन ने की. इसीलिए इसे 'स्वीडिश मॉडल' और 'नॉर्डिक मॉडल' कहा जाता है. नॉर्वे और आइसलैंड भी इसी कानून का पालन करते हैं. इस मॉडल के तहत ये देश यौनकर्मियों को अपराधी ना कह कर, देह व्यापार पर लगाम कसने की कोशिश कर रहे हैं.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड

इन दोनों देशों में देह व्यापार को पूरी तरह कानूनी मान्यता प्राप्त है. ऑस्ट्रिया में देह व्यापार में आने के लिए कम से कम 19 साल का होना जरूरी है. महिलाओं को नियमित रूप से अपना मेडिकल टेस्ट कराना होता है और टैक्स भी चुकाना होता है. जर्मनी में भी ऐसा ही है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

ग्रीस और तुर्की

जर्मनी की तरह ग्रीस में भी वैश्यावृति एक कानूनी पेशा है. अन्य लोगों की तरह यौनकर्मियों को अपना मेडिकल बीमा भी कराना होता है. तुर्की में भी इसी तरह के कानून हैं. वहां यौनकर्मियों के लिए खुद को पंजीकृत कराना और आईडी कार्ड बनवाना अनिवार्य है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

ब्रिटेन और आयरलैंड

ब्रिटेन में भी यौनकर्मियों के पास अधिकार हैं लेकिन गैर सरकारी संगठनों के विरोध के चलते वक्त के साथ कुछ नियम बदले गए हैं. मिसाल के तौर पर किसी यौनकर्मी की तलाश में रेड लाइट इलाके में धीमी गति पर गाड़ी चलाने की इजाजत नहीं है. आयरलैंड में भी कड़ा नियंत्रण है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

स्पेन और पुर्तगाल

दरअसल यूरोप के अधिकतर देश देह व्यापार को अपराध नहीं मानते. हर देश के अपने कुछ अलग नियम हैं और उन्हीं के अनुरूप स्वीकृति है. स्पेन में किसी अन्य व्यक्ति को देह व्यापार में धकेलना या उससे मुनाफा कमाना अपराध है. व्यक्ति अपनी इच्छा से इस पेशे से जुड़ सकता है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

मेक्सिको और ब्राजील

लगभग सभी लातिन अमेरिकी देशों में देह व्यापार की अनुमति है. ड्रग्स और माफिया के लिए मशहूर मेक्सिको में मानव तस्करी भी बड़ी समस्या है. सुनियोजित रूप से सेक्स रैकेट चलाना अपराध है लेकिन फिर भी यहां ऐसा आम है.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया

जहां पूरे न्यूजीलैंड में देह व्यापार की अनुमति है, वहीं पड़ोसी ऑस्ट्रेलिया के अलग अलग हिस्सों में अलग अलग कानून हैं. न्यूजीलैंड में 2003 में बदले गए कानून के बाद से बालिगों के लिए यह व्यापार कानूनी हो गया है. कनाडा में भी इसे गैरकानूनी नहीं माना जाता.

इन देशों में कानूनी है देह व्यापार

भारत और थाईलैंड?

भारत के लगभग हर शहर में कोई ना कोई छिपा हुआ इलाका है जहां देह व्यापार चलता है. दिल्ली की जीबी रोड पूरे देश में मशहूर है. दरअसल भारत में देह व्यापार गैरकानूनी नहीं है लेकिन दलाली करना, चकला चलाना और सार्वजनिक जगहों पर ग्राहक ढूंढना अपराध है. वैश्यावृति के लिए मशहूर एशिया के अधिकतर देशों, जैसे थाईलैंड और फिलीपींस में यौनकर्म गैरकानूनी है.

कट कथा के प्रयासों से इलाके की महिलाओं में साहस आया है और वे सही और गलत की पहचान करने लगी हैं और उन्हें अपने अधिकारों के बारे में जानकारी बढ़ी है. फिलहाल कट-कथा के पास 66 बच्चे हैं जो उनके लगातार संपर्क में रहते हैं और 15 बच्चे स्कूल में आकर पढ़ाई लिखाई और कौशल विकास कार्यक्रम में हिस्सा लेते हैं. गीतांजलि कहती हैं कि जिस तरह से बच्चों को तैयार किया जा रहा है वे भविष्य में चेंज मेकर्स बनेंगे और वे ही खुद इस जीबी रोड को बदल डालेंगे. लेकिन इन प्रयासों के लिए जरूरी संसाधनों की कमी है. गीतांजलि की संस्था फिलहाल जीबी रोड पर एक कमरे में ही स्कूल और कौशल विकास कार्यक्रम चला रही है. संसाधनों की कमी उन्हें आगे जाने से रोक रही है. गीतांजलि के मुताबिक अगर सरकार जीबी रोड पर ध्यान दें और संसाधन मुहैया कराए तो वहां काम करने वाली हजारों महिलाएं उन अंधेरे कोठों से खुद बाहर आ जाएंगी और समाज में सम्मानित जिंदगी बिता पाएंगी.

हमें फॉलो करें