क्या पाकिस्तान ने शुरू कर दी आतंकवाद के खिलाफ जंग?

आतंकवाद को लेकर आलोचना झेल रहे पाकिस्तान का कहना है कि उसने उग्रवादी संगठनों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. साथ ही मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत को बैन कर दिया है.

अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच पाकिस्तान का दावा है कि उसने उग्रवादी समूहों पर कार्रवाई शुरू कर दी है. इस कार्रवाई में 44 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है जिनका संबंध जैश-ए-मोहम्मद से हैं. पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने कहा है ये कदम सभी प्रतिबंधित संगठनों पर कार्रवाई तेज करने के मद्देनजर उठाया गया है. पाकिस्तानी अधिकारी ये भी कह रहे हैं कि उनकी यह कार्रवाई पहले से तय रणनीति का हिस्सा है, इसका भारत की ओर से लगाए जा रहे आरोपों का कुछ लेना-देना नहीं है.

14 फरवरी को पुलवामा में भारतीय अर्धसैनिक बलों के काफिले पर हुए हमले के लिए भारत, पाकिस्तान में चल रहे ऐसे संगठनों को जिम्मेदार ठहराता रहा है. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. इसके बाद से ही भारत और दुनिया के कई देश पाकिस्तान पर लगातार दबाव बना रहे थे. अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस यूएन सिक्योरिटी काउंसिल में जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर के खिलाफ फिर से प्रस्ताव ला चुके हैं. प्रस्ताव पर मार्च मध्य में मतदान होना है.

मसूद अजहर

पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के मुताबिक जैश के प्रमुख मसूद अजहर के रिश्तेदार मुफ्ती अब्दुल राउफ और हामाद अजहर को एहतियातन हिरासत में लिया गया है. हामाद को मसूद अजहर का बेटा कहा जा रहा है.

पाकिस्तान के गृह सचिव आजम सुलेमान ने कहा, "हम अभी जांच कर रहे हैं और हमें सबूत मिलते हैं तो कानूनी कार्रवाई होगी. लेकिन अगर हमें कोई सबूत नहीं मिलता तो हिरासत खत्म हो जाएगी."

इसके साथ ही पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद के जमात-उद-दावा (जेयूडी) और फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) नाम के संगठनों पर भी बैन लगा दिया है. भारत हाफिज सईद को 2008 के मुंबई हमलों का मास्टर माइंड कहता है. 

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

1947

भारत और पाकिस्तान के बीच पहला युद्ध दोनों की आजादी के महज दो महीने बाद अक्टूबर 1947 में शुरू हुआ. कश्मीर में कबायली हमले के बाद यह जंग शुरू हुई. तब से आज तक कश्मीर पर दोनों देश अपना दावा करते हैं.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

1965

दोनों पड़ोसियों के बीच दूसरी जंग 1965 में हुई. कश्मीर मुद्दे को लेकर शुरू हुई इस लड़ाई के दौरान भारत ने पंजाब का फ्रंट खोल दिया. भारतीय फौज पाकिस्तानी पंजाब में काफी अंदर तक दाखिल हो चुकी थी. उसके बाद युद्ध विराम हुआ.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

1971

पश्चिमी पाकिस्तान ने पूर्वी पाकिस्तान के लोकतांत्रिक जनविद्रोह को दबाने के लिए सेना का इस्तेमाल किया. भारतीय सेना ने जनविद्रोहियों का समर्थन किया. इस युद्ध में पाकिस्तान की हार हुई और बांग्लादेश का जन्म हुआ.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

1999

दोस्ती और अमन की ऐतिहासिक कोशिशों के दौरान पाकिस्तान की सेना ने 1999 में भारतीय इलाके में घुसकर कारगिल की चोटियों पर कब्जा कर लिया. इसके बाद भारत ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी सेना को वापस भेजा.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2001

अक्टूबर 2001 में भारत प्रशासित कश्मीर की विधानसभा में आतंकी हमला हुआ, इसमें 38 लोग मारे गए. इस हमले के दो महीने बाद नई दिल्ली में भारतीय संसद पर भी इसी तरह का आतंकवादी हमला हुआ, जिसमें 14 लोगों की मौत हुई.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2008

नवंबर 2008 में भारत में सबसे बड़ा आतंकवादी हमला हुआ. समंदर के रास्ते पाकिस्तान से भारत में दाखिल हुए आतंकवादियों के गुट ने मुंबई में रेलवे स्टेशन, रेस्तरां, फाइव स्टार होटल, यहूदी सेंटर को निशाना बनाया और 166 लोगों की जान ले ली.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2016

जनवरी 2016 में भारतीय वायुसेना के पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादी हमला हुआ. हमले में सात भारतीय सैनिकों और छह हमलावरों की मौत हुई.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2016

भारत प्रशासित कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सेना के ठिकाने पर हमला हुआ. 19 भारतीय जवान मारे गए.

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2019

भारतीय कश्मीर के पुलवामा जिले में आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान मारे गए

कब कब टकराए भारत और पाकिस्तान

2019

पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में हवाई हमले किए.

पाकिस्तान सरकार का कहना है कि उसने उग्रवादियों से निपटने के लिए रणनीति पूरी तरह से तैयार कर ली है. पाकिस्तान में सुरक्षा मसलों से जुड़े दो वरिष्ठ अधिकारियों ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि सरकार ने जेयूडी और एफआईएफ के द्वारा चलाए जा रहे मदरसों को भी बैन कर दिया है. देश में जेयूडी द्वारा करीब 300 मदरसे चलाए जा रहे थे. पाकिस्तान के प्रमुख अंग्रेजी अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि प्रशासन ने ऐसे मदरसों को बंद करके उनकी संपत्ति को जब्त कर ली है.

इस पूरे मसले पर अब तक भारत की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. भारत के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रॉयटर्स से बातचीत में पाकिस्तानी कार्रवाई पर संशय जताया. उन्होंने कहा, "हम पिछले कई साल से देख रहे हैं कि हाफिज सईद को कितनी बार गिरफ्तार किया गया और फिर छोड़ दिया गया. इतना ही नहीं क्या पाकिस्तान ने जैश के कैंपों पर कोई कार्रवाई की?"

अमेरिकी न्यूज चैनल सीएनएन से बातचीत में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी स्वीकार कर चुके हैं जैश प्रमुख मसूद पाकिस्तान में ही है. हालांकि उन्होंने मसूद की तबियत को खराब बताया था.

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

10.

फिलीपींस

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

9.

मिस्र

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

8.

यमन

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

7.

भारत

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

6.

सोमालिया

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

5.

पाकिस्तान

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

4.

सीरिया

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

3.

नाइजीरिया

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

2.

अफगानिस्तान

आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

1.

इराक

एए/ओएसजे (रॉयटर्स)

हमें फॉलो करें