चांसलर मैर्केल नहीं लेंगी ईयू में कोई पद

यूरोपीय चुनावों से पहले जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल का भविष्य अटकलों के केंद्र में है. अब उन्होंने चांसलर का पद छोड़ने के बाद यूरोपीय आयोग में कोई महत्वपूर्ण पद लेने की संभावना से इंकार किया है.

जर्मनी में जब से अंगेला मैर्केल ने सत्ताधारी क्रिश्चियन डेमोक्रैटिक पार्टी का अध्यक्ष पद छोड़ा है, चांसलर के रूप में उनके दिनों को गिना चुना समझा जा रहा है और अटकलें लगाई जा रही हैं कि भविष्य में वह क्या करेंगी. यूरोपीय चुनावों के मद्देनजर बहुत से लोग उनके ब्रसेल्स जाने की भी अटकलें लगा रहे थे. मजे की बात ये है कि पिछले दिनों मैर्केल ने खुद भी इन अटकलों को हवा दी थी, लेकिन अब उन्होंने इन अटकलों पर स्पष्ट शब्द चुने हैं और इससे दो टूक तौर पर इंकार किया है.

उन्होंने बर्लिन में नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रुटे के साथ बातचीत के बाद ब्रसेल्स जाने की संभावना से इंकार किया और कहा, "मैं किसी और राजनीतिक पद के लिए, चाहे वह कहीं भी हो, यूरोप में भी नहीं, उपलब्ध नहीं हूं." मैर्केल ने साफ किया पिछले साल 2021 में चांसलर पद छोड़ने की घोषणा करते हुए उन्होंने जो कहा था वह अभी भी लागू है.

अभी पिछले दिनों उन्होंने राष्ट्रीय दैनिक ज्युड डॉयचे साइटुंग के साथ एक साक्षात्कार में कहा था, "बहुत से लोग यूरोप की चिंता कर रहे हैं, मैं भी. इसके साथ मेरे मन में जिम्मेदारी की बढ़ी हुई भावना उठती है कि मैं दूसरों के साथ मिलकर यूरोप के भविष्य के लिए कुछ करूं."

जर्मन संविधान के 70 साल के समारोह में मैर्केल

इस बयान के बाद उनके ब्रसेल्स जाने की अटकलों को और हवा मिली थी. अब मैर्केल ने साफ किया है, "मैंने ये इंटरव्यू जर्मन चांसलर के तौर पर दिया था, और मैं मानती हूं कि यह सही है कि मैं जर्मन चांसलर के रूप में एक अच्छे और सक्षम यूरोप के अपने प्रयासों को बढ़ाऊं."

यूरोपीय आयोग के प्रमुख जाँ क्लोद युंकर ने भी कहा था कि ये विचारणीय है कि मैर्केल चांसलर के अपने कार्यकाल के यूरोपीय स्तर पर नई भूमिका लें. उन्होंने कहा था कि वे इस बात की कल्पना नहीं कर सकते कि अंगेला मैर्केल राजनीतिक पटल से गायब हो जाएं.

अक्टूबर 2018 में प्रांतीय चुावों में अपनी पार्टी की हार के बाद अंगेला मैर्केल ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और मौजूदा संसदीय कार्यकाल के बाद 2021 में चांसलर का पद छोड़ने और राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा की थी. उन्होंने ब्रसेल्स की संभावनाओं के मद्देनजर यह भी कहा था कि उन्हें और किसी राजनीतिक पद की चाहत नहीं. फिर भी अटकलें जारी रहीं और उन्हें यूरोपीय संघ के राज्य और सरकार प्रमुखों के परिषद के अध्यक्ष डोनल्ड टुस्क का उत्तराधिकारी बताया जा रहा था.

एमजे/एके (डीपीए)

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

'शक्ति का त्रिकोण'

मैर्केल को अक्सर हाथ मिलाकर खड़े होने पर एक त्रिकोण सी मुद्रा में देखा जाता है. जनता के सामने हों या कैमरे के सामने- ये हस्त मुद्रा उनकी पहचान है. और एक बेहद शक्तिशाली नेता होने के कारण कई लोग इसे शक्ति का त्रिकोण कहते हैं.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

यूरोप की नेता

जर्मन चांसलर अपनी लगभग हर सार्वजनिक उपस्थिति में शांत और गंभीर होती हैं, खासकर यूरोप के भीतर. इसी कारण सही मौकों पर आई उनकी मुस्कान खबर बन जाती है. जैसे हाल ही में ब्रातिस्लावा में आयोजित यूरोपीय नेताओं के सम्मेलन में.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

सेल्फी में चांसलर

2015 में जर्मनी में शरणार्थियों की संख्या में आए उभार के दौरान ही एक सीरियाई युवा के साथ उनकी ये सेल्फी बहुत महत्वपूर्ण संदेश बन गई. शरणार्थियों के लिए द्वार खुले रखने वाली मैर्केल ने अपने मत को साफ करते हुए तमाम स्कूलों और शरणार्थी कैंपों का दौरा किया.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

गठबंधन सरकार में जुगलबंदी

जर्मनी की चांसलर और सीडीयू पार्टी की मुखिया के तौर पर मैर्केल के सामने चुनौतियां भी बड़ी हैं. वह सरकार में अपनी सहयोगी पार्टी एसपीडी के बड़े नेता जिग्मार गाब्रिएल की तरह तुरंत प्रतिक्रिया नहीं देतीं बल्कि बहुत ही ठंडे दिमाग से वस्तुनिष्ठता वाले बयानों के लिए जानी जाती हैं.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

तेज डिजिटल विकास पर उत्सुक

एक भौतिकशास्त्री के रूप में प्रशिक्षित मैर्केल वैज्ञानिक सोच और अभिरुचि वाली तो रही हैं, लेकिन इंटरनेट और डिजिटल मीडिया में वे बहुत ज्यादा बढ़ चढ़ कर हिस्सा नहीं लेतीं. हालांकि उनका आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट है, जिस पर उनके सरकारी फोटोग्राफर की खींची तस्वीरें डाली जाती हैं. 2015 में यूएन में फेसबुक संस्थापक मार्क जकरबर्ग के साथ.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

उपदेशक की बेटी

एक प्रोटेस्टेंट पादरी की बेटी के रूप में जन्मी मैर्केल के नैतिक मूल्यों पर उनके पिता की शिक्षाओं का गहरा असर माना जाता है. ईसाई परवरिश के साथ बड़ी हुईं मैर्केल को 2016 में पोप फ्रांसिस के साथ वैटिकन में मिलने का मौका मिला. अपनी पसंदीदा किताबों पर चर्चा करते हुए.

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

दोस्ताना राजनैतिक संबंधों की चैंपियन

अपने व्यस्त कार्यक्रमों के चलते मैर्केल के जीवन में ऐसे मौके भी कम ही आते हैं जब वे रिलेक्स दिखें. लेकिन 2013 में जर्मनी और फ्रांस के बीच एलिजी समझौते पर हस्ताक्षर होने की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर मैर्केल ने पूरी संसद को न्यौता दिया और दोनों देशों की दोस्ती का जश्न शैंपेन की बोतल के साथ मनाया गया.

Merkel walks on the beach in Poland, Copyright: Steffen Kugler/Pool/dapd

ऐसा क्या है अंगेला मैर्केल के व्यक्तित्व में

एक निजी चांसलर

चांसलर के रूप में अंगेला मैर्केल साल में बहुत कम ही बार छुट्टियां ले पाती हैं. सार्वजनिक जीवन में होने के कारण अक्सर छुट्टी के समय भी उन पर नजर होती है. जैसे यहां पोलैंड में पति योआखिम जाउअर के साथ छुट्टी पर गईं मैर्केल की तस्वीर. (हाइके मुंड/आरपी)

हमें फॉलो करें