जी भरकर पीने पर पाबंदी, तो कंपनी में हड़ताल

डेनमार्क में बीयर बनाने वाली मशहूर कंपनी कार्ल्सबुर्ग के सैकड़ों कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं क्योंकि काम के दौरान उनके बीयर पीने पर पांबदी लगा दी गई है. हालांकि लंच के दौरान बीयर पीने की इजाजत है पर जी भरकर नहीं.

कार्ल्सबुर्ग दुनिया की चौथी सबसे बड़ी बीयर कंपनी है. लेकिन डेनमार्क में उसके कर्मचारी 1 अप्रैल को जारी नए नियमों से परेशान हैं. कंपनी के प्रवक्ता येंस बेक्के ने बताया, "पहले हर जगह फ्री बीयर, पानी और सॉफ्ट ड्रिंक मिलते थे, लेकिन अब सारे फ्रिजों से बीयर हटा दी गई है. आगे से बीयर सिर्फ कैंटीन में लंच के दौरान मिलेगी."

बेक्के ने बताया कि ड्राइवरों को लंच के अलावा हर दिन तीन बीयर की बोतलें मिलेंगी. उनके मुताबिक गोदाम के कर्मचारी भी यही चाहते हैं और इसी की खातिर उन्होंने हड़ताल कर दी. दूसरे कर्मचारी भी गोदाम वालों की हड़ताल में शामिल हो गए. मजे की बात है कि इस हड़ताल में ड्राइवर भी साथ दे रहे हैं, जिन्हें कंपनी लंच टाइम से अलग बीयर दे रही है.

बेक्के ने बताया कि बुधवार को 800 कर्मचारी हड़ताल पर थे, इनमें से 250 ने गुरुवार को भी काम नहीं किया. बुधवार को कोपेनहेगन से कार्ल्सबुर्ग बीयर बाहर नहीं भेजी जा सकी, जबकि देश के दूसरे हिस्से में भी इस काम में देरी हुई. बात इतनी बढ़ गई कि डेनमार्क की मजदूर यूनियन को भी इसमें कूदना पडा. हालांकि कंपनी को उम्मीद है कि इससे उसे ज्यादा आर्थिक नुकसान नहीं होगा.

कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि कार्ल्सबुर्ग के ट्रकों में अल्कोहल के लॉक होंगे ताकि ड्राइवर हद से ज्यादा बीयर पीकर ट्रक न चला पाएं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एस गौड़

हमें फॉलो करें