फाइनल में पहुंचे मुंबई इंडियंस

पहले सेमीफाइनल मुक़ाबले में बैंगलोर को 35 रन से हराकर मुंबई फ़ाइनल में पहुंची. मैच के हीरो रहे पोलार्ड. पहले ताबड़तोड़ 33 रन बनाए और फिर बैंगलोर के तीन अहम विकेट झटके. हरभजन और मलिंगा को दो-दो विकेट मिले.

मुंबई इंडियन्स के सचिन तो बैंगलोर के लिए ख़तरनाक साबित नहीं हुए लेकिन टीम ने ख़राब शुरुआत के बाद भी अच्छा स्कोर खड़ा कर दिया. तिवारी ने 53 रनों का योगदान दिया जबकि रायुदु ने 44 रन बनाए. तेंदुलकर 9 रनों में ही आउट हो गए. बैंगलोर के हाथ से मैच छीनने में अहम भूमिका निभाई केविन पोलार्ड ने. उन्होंने पारी के अंत में 13 गेंदों पर ताबड़तोड़ 33 रन ठोंके और टीम के स्कोर को 184 तक ले गए.

मैच से पहले अनिल कुंबले का कहना था कि सचिन उनकी टीम के लिए ख़तरा साबित हो सकते हैं. ज़ोरदार फॉर्म में चल रहे मास्टर ब्लास्टर से स्टार लेगी भी घबराए हुए हैं. सेमीफाइनल मुक़ाबले से पहले कुंबले ने कहा, ''सचिन बहुत बड़े खिलाड़ी हैं. चाहे वह भारत के लिए खेलें या मुंबई इंडियंस के लिए, विपक्षी टीम हमेशा उन्हें सस्ते में आउट करना चाहती है. हमें उम्मीद है कि हम ऐसा कर पाएंगे. उन्होंने पूरे आईपीएल में अपनी टीम के लिए शानदार बल्लेबाज़ी की है.''

स्टार लेगी का मानना है कि पिच बल्लेबाज़ों के अनुकूल है. उन्होंने कहा, ''गेंदबाज़ों को ख़ासी मेहनत करनी पड़ेगी. ''

आईपीएल का पहला सेमीफाइनल बैंगलोर में होना था. लेकिन हाल में हुए छोटे धमाकों के बाद नवीं मुंबई में मैच करवाने का फ़ैसला किया गया. मेहमान टीम का मानना है कि मुंबई में मैच होने की वजह से मेज़बान टीम को मनोवैज्ञानिक लाभ और दर्शकों का समर्थन ज़रूर मिलेगा.

लेकिन अनिल कुंबले का कहना है कि उनकी टीम दृढ़ निश्चय कर मुंबई आई है. अब हमें ट्रॉफी जीतने के लिए दो मैच और जीतने हैं.'' बैंगलोर पिछले आईपीएल की उपविजेता टीम रह चुकी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/आभा मोंढे

संपादनः एम गोपालकृष्णन

हमें फॉलो करें