भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी क्यों कर रहे हैं 'स्वामी आर्मी' की तारीफ

ऑस्ट्रेलिया की 'स्वामी आर्मी' की तारीफ भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली से लेकर शिखर धवन जैसे खिलाड़ी भी कर चुके हैं. जानिए ये आर्मी ऐसा क्या करती है जिससे क्रिकेटरों को ऑस्ट्रेलियाई मैदानों में घर जैसा महसूस होता है.

ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट स्टेडियमों में जुटे ढेरों खेल प्रेमियों को देखकर दुनिया भर की मीडिया की ही तरह कमेंटेटर भी चौंक रहे हैं. कमेंटेटरों को विश्वास ही नहीं हो रहा है कि यह नजारा भारत में नहीं ऑस्ट्रेलिया में है. इनके कारण ऑस्ट्रेलिया के स्टेडियम में दर्शकों के पवेलियन का रंग उनकी जर्सी के पीले या हरे रंग का नहीं बल्कि भारतीय जर्सी के नीले रंग में डूबा दिखता है.

इतना ही नहीं ऑस्ट्रेलिया में चल रहे क्रिकेट मुकाबलों को देखने पहुंचे भारतीय खेल प्रेमी भी कहते हैं कि यहां के स्टेडियमों में जु़टे अधिकतर फैन्स भारत की हौसलाअफजाई कर रहे हैं. क्रिकेट के दीवाने बताते हैं कि स्टेडियमों में ऑस्ट्रेलियाई समर्थकों से ज्यादा भारतीय समर्थक जुटे हैं, जिसके चलते यहां भारतीय खिलाड़ियों को घर जैसा महसूस होता है.

कौन कर रहा सपोर्ट

दरअसल सिडनी में रहने वाले 30 साल के कार्तिक ने साल 2003 में अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक समूह 'स्वामी आर्मी' बनाया था. आज इसके सदस्यों की संख्या दुनिया भर में 60 हजार के करीब हो गई है. कार्तिक ने कहा, "हम टीम की हौसलाफजाई के लिए देश के कोने कोने में साथ जाते हैं." इस स्वामी आर्मी की खास बात है कि इसके फॉलोवर्स के चलते स्टेडियम के अंदर और बाहर कार्निवाल जैसा माहौल बना रहता है. मैच के पहले ड्रम बजते ही फॉलोवर्स नाचते-गाते लाइन में लग जाते हैं.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

बचपन से शुरुआत

मुंबई के विरार में पले बढ़े पृथ्वी ने 4 साल की उम्र में अपनी मां को खो दिया. 9 साल की उम्र में मुंबई की रिजवी एकेडमी में क्रिकेट सीखना शुरू किया. उन्हें क्रिकेट एकेडमी तक पहुंचाने के लिए उनके पिता हर दिन 90 मिनट का सफर करते थे. उनके पिता को अपना व्यापार भी बंद करना पड़ा.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

पृथ्वी का पहला शतक

14 साल की उम्र में पृथ्वी ने जब मुंबई की कांगा लीग में पहला शतक जमाया तो वो ऐसा करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी थी. सचिन तेंदुलकर ने उन्हें पहली बार देख कर ही कहा था कि वे एक दिन इंडिया के लिए खेलेंगे.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

स्कूली क्रिकेट में धमाल

2014 के दिसंबर में उन्होंने अपने स्कूल के लिए 546 रन बनाए जो स्कूली क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर है. स्कूली क्रिकेट में धमाल मचाते मचाते पृथ्वी मुंबई की अंडर 16 क्रिकेट टीम के कप्तान बन गए.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

रणजी में शतक

पिछले दो दशकों में पृथ्वी शॉ अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने रणजी के अपने पहले ही मैच में शतक ठोक दिया. आईपीएल में उन्हें डेल्ही डेयरडेविल्स ने खरीदा है और उनकी शुरुआत शानदार रही है.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

विश्वविजेता अंडर 19 टीम के कप्तान

न्यूजीलैंड में हुए अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी की और टीम को विश्वविजेता बनाया. अंडर 19 क्रिकेट टीम के कोच राहुल द्रविड़ का कहना है कि पृथ्वी ने अपने खेल में लगातार सुधार किया है.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

भारतीय टीम में शामिल

इंग्लैंड के दौरे पर इंडिया ए के लिए पृथ्वी शॉ ने 60.3 के औसत से सबसे ज्यादा 603 रन बनाए. इस दौरे पर वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी थे.

भारत में क्रिकेट की नई सनसनी पृथ्वी शॉ

पहले टेस्ट में शतक

राजकोट में वेस्ट इंडीज के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेलने उतरे पृथ्वी शॉ ने 134 रन बनाए. अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में पहली पारी में ही शतक बनाने का करिश्मा इतनी कम उम्र में भारत का कोई और खिलाड़ी इससे पहले नहीं कर पाया.

स्वामी आर्मी से मिल रहे साथ और हौसले को भारतीय टीम के बड़े खिलाड़ियों से भी सराहना मिल चुकी है. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के अलावा ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन और अन्य खिलाड़ियों ने इस सपोर्ट को जबरदस्त बताया है.

क्रिकेट को बनाया अपना धर्म

ऑस्ट्रेलिया में खेलों की इतिहासकार मेगन पोंसफोर्ड कहती हैं कि ब्रिटिश सरकार, भारत में क्रिकेट को करीब 1700 के दशक में लाई थी और यह भारत में खूब फला-फूला. मेगन पोंसफोर्ड ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के साल 1935-36 में पहले भारत दौरे की रिसर्च में अपनी जिंदगी के कई साल भी लगाए हैं. उनकी रिसर्च के मुताबिक ऑस्ट्रेलियाई टीम सबसे पहले भारत एक गुडविल ट्रिप पर गई थी, जिसका मकसद भारतीयों को टीम बनाने में मदद करना था. मेगन जाने-माने ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बिल पोंसफोर्ड की पोती हैं.

मेलबर्न में रहने वाले क्रिकेट के दीवाने अंगद ओबेराय कहते हैं, "भारत विभिन्न धर्मो, भाषा और संस्कृतियों का देश है लेकिन क्रिकेट एक ऐसी चीज है जो सारी दीवारों को तोड़ देता है."

टीम का फायदा

भारतीय फैन्स की ये मौजूदगी टीम इंडिया के लिए हर तरह से फायदेमंद है. आज भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड दुनिया भर के क्रिकेट बोर्डों में सबसे ज्यादा अमीर माना जाता है. इतना ही नहीं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल का 70 फीसदी राजस्व भी भारतीय क्रिकेट से ही आता है.पोंसफोर्ड कहती हैं कि ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट को जिंदा रखने के लिए भारत के साथ खेलते रहना जरूरी है.

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

10. तिलकरत्ने दिलशान, श्रीलंका

मैच: 330, शतक: 22

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

09. सौरव गांगुली, भारत

मैच: 311, शतक: 22

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

08. क्रिस गेल, वेस्ट इंडीज

मैच: 275, शतक: 22

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

07. कुमार संगाकारा, श्रीलंका

मैच: 404, शतक: 25

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

06. एबी डिवीलियर्स, दक्षिण अफ्रीका

मैच: 228, शतक: 25

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

05. हाशिम अमला, दक्षिण अफ्रीका

मैच: 170, शतक: 27

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

04. सनथ जयसूर्या, श्रीलंका

मैच: 445, शतक: 28

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

03. रिकी पोंटिंग, ऑस्ट्रेलिया

मैच: 375, शतक: 30

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

02. विराट कोहली, भारत

मैच: 219, शतक: 39

वनडे में सबसे ज्यादा शतक जड़ने वाले बल्लेबाज

01. सचिन तेंदुलकर, भारत

मैच: 463, शतक: 49

एए/आरपी (एएफपी)