रूसी राष्ट्रपति ने किया कड़े कदम उठाने का एलान

रूस के राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने कहा है कि मॉस्को के हवाई अड्डे पर हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को खोजकर सजा दिलाई जाएगी. इस हमले में 35 लोगों की मौत हो गई जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए.

रूस के सबसे व्यस्त दोमोदेदोवो हवाई अड्डे पर हुए इस धमाके में दो ब्रिटिश नागरिक भी मारे गए हैं. मीडिया खबरों के मुताबिक धमाके के लिए जिम्मेदार तीन संदिग्धों की तलाश की जा रही है. इस धमाके की अब तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन संदेह है कि यह काम उत्तरी कॉकेशस के इस्लामिक आतंकवादियों का हो सकता है.

पिछले साल मार्च में भी मॉस्को में आत्मघाती हमले हुए थे. तब आतंकवादियों ने शहर के भूमिगत मेट्रो रेल सिस्टम को निशाना बनाकर 40 लोगों की जान ले ली थी. इसके लिए दो महिला खुदकुश हमलावरों का इस्तेमाल किया गया जो रूस के संवेदनशील दागेस्तान इलाके से थीं. सोमवार के हमले के बाद पुलिस ने संकेत दिया है कि इसका संबंध भी दागेस्तान से हो सकता है.

भयानक था मंजर

सोमवार शाम हुए धमाके में उस जगह को निशाना बनाया गया जहां अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले लोग अपने जानकारों से मिलते हैं. कस्टम की जांच से निकलने के बाद लोग उस हाल में जमा होते हैं. एक चश्मदीद ने रूसी टेलीविजन को बताया कि हमलावर ने अपने आपको धमाके में उड़ाने से पहले कहा, "मैं तुम सबको मार डालूंगा."

धमाके के बाद हॉल में भयानक मंजर था. वहां जगह जगह लाशें पड़ी थीं और बम से निकलीं कीलें साफ देखी जा सकती थीं. घायलों को 40 किलोमीटर दूर अस्पताल में ले जाया गया.

मेदवेदेव सख्त

रूसी राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने आतंकवादियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है. उन्होंने कहा, "पहले हुए कुछ हमलों के बाद हमने सटीक कानून बनाए हैं और अब हमें देखना है कि उन्हें कैसे लागू किया जाए. जाहिर है कि कुछ खामिया हैं और हमें उनकी तह तक पहुंचना होगा." उन्होंने देशभर में सुरक्षा कड़ी करने के आदेश दे दिए हैं. सार्वजनिक स्थानों पर विशेष ध्यान रखने को कहा गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

हमें फॉलो करें