लेवांडोवस्की के 14 गोल

एकतरफा हो चले जर्मन फुटबॉल लीग बुंडेसलीगा में अब निजी रिकॉर्डों पर नजर जा रही है. डॉर्टमुंड के रोबर्ट लेवांडोवस्की इस सीजन में 14 गोल कर चुके हैं और बर्लिन के आड्रियान रामोस के बराबर चल रहे हैं.

डॉर्टमुंड के ही पियेर-एमेरिक ओबामेयांग 13 गोल करके सूची में दूसरे नंबर पर हैं, जबकि बायर्न म्यूनिख के मारियो मांजुकिच के नाम दर्जन भर गोल हैं. थोमास मुलर और मार्को रॉयस जैसे सितारों के नाम इस सीजन में अब तक आठ आठ गोल हैं, जबकि बायर्न म्यूनिख के स्टार आर्येन रॉबेन ने अब तक सात गोल किए हैं.

हफ्ते के आखिर में हुए मैचों में वोल्फ्सबुर्ग ने हैर्था बर्लिन की टीम को 2-1 से पराजित किया, जबकि सबसे ऊपर चल रही बायर्न की टीम ने फ्राइबुर्ग को चार गोलों से धो डाला. बायर्न को अब मंगलवार को चैंपियंस लीग में आर्सेनाल से भिड़ना है. उससे पहले की जीत उसके लिए मनोवैज्ञानिक फायदा पहुंचा सकती है. दूसरी तरफ पीली जर्सी वाली बोरुसिया डॉर्टमुंड ने भी फ्रैंकफर्ट की टीम को चार गोल से पराजित किया. डॉर्टमुंड को भी चैंपियंस लीग में 25 फरवरी को रूस की जेनिट टीम से खेलना है.

इस हफ्ते चौंकाने वाला नतीजा सूची में सबसे नीचे चल रही ब्राउनश्वाइग ने दिया. उसने हैम्बर्ग को 4-2 से पराजित कर दिया. ये दोनों टीमें सूची में सबसे नीचे हैं और सबसे कम अंकों वाली दो टीमों को हर साल बुंडेसलीगा छोड़ना पड़ता है. हैम्बर्ग कभी चोटी की टीम हुआ करती थी लेकिन इस साल उसने बेहद खराब प्रदर्शन किया है.

आड्रियान रामोस

इस क्रम में न्यूरेम्बर्ग की टीम को बड़ी कामयाबी मिली, जब उसने ऑग्सबुर्ग को एक गोल से हरा दिया. इसके साथ ही वह रेलिगेशन जोन से बाहर आ गया है. स्विट्जरलैंड के योसिप डर्मिक ने 64वें मिनट में गोल किया. मैच के बाद ऑग्सबुर्ग के कोच मार्कुस वाइनसिएर्ल का कहना था, "न्यूरेमबर्ग ने हमारा जीना मुश्किल कर दिया और बहुत अच्छा खेल दिखाया." अब ऑग्सबुर्ग की टीम 31 अंकों के साथ नौवें नंबर पर खिसक गई है.

दूसरी तरफ न्यूरेम्बर्ग के कोच नीदरलैंड्स के गेर्टेयान फेरबेक जीत के बाद उत्साहित दिखे, "हम फुटबॉल खेलना नहीं भूले हैं. हमने जम कर संघर्ष किया और इसकी वजह से हमें तीन अंक मिले."

अंक तालिका में आम तौर पर कोई बदलाव नहीं हुआ है. बायर्न म्यूनिख की टीम ने लगातार जीत की मदद से 59 अंक हासिल कर लिए हैं और वह दूसरे नंबर की लेवरकूजन से 16 अंक आगे है. हर मैच में जीत के साथ बायर्न का रिकॉर्ड भी मजबूत होता जा रहा है. डॉर्टमुंड और शाल्के की टीमें पहले की ही तरह तीसरे और चौथे नंबर पर जमी हैं. शाल्के की टीम ने इस हफ्ते लेवरकूजेन को 2-1 से हरा दिया है.

इस साल चैंपियंस लीग की आखिरी 16 टीमों में से चार जर्मनी की हैं. पिछली चैंपियन बायर्न के अलावा उपविजेता डॉर्टमुंड, शाल्के और लेवरकूजेन यूरोप के सबसे बड़े मुकाबले में जोर आजमा रही हैं.

एजेए/एमजे (डीपीए, रॉयटर्स, एपी)

हमें फॉलो करें