स्वस्थ खाने से दूर जाता देश

इटली के लोगों को उनके सेहतमंद खाने के लिए याद किया जाता है. भूमध्यसागर के खाने पीने की चीजें लजीज भी हैं और शरीर के लिए भी अच्छी. लेकिन आधुनिक समाज के दबाव अब उसे बदल रहे हैं.

जैतून के तेल, दालों, सब्जियों, फलों और मेवों वाला भूमध्यसागरीय यानी मेडिटरेनियन खाना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है. इसमें कार्बोहाइड्रेट और फाइबर का अच्छा संतुलन होता है. मछली, थोड़े मांस और दूध से बने खाने पीने की चीजों की सीमित मात्रा के कारण यह संतुलित हो जाता है.

इस तरह का खाना न केवल दिल के रोगों को दूर रखता है बल्कि मोटापे और डायबिटीज को भी कम कर सकता है. स्पेन के नवार्रा में एक शोध में सामने आया कि मेडिटरेनियन खाने से दिमाग तेज होता है और कम चर्बी के कारण धमनियों में वसा जमने की समस्या भी कम होती है.

जो देश सीधे सीधे इस तरह के खाने से जुड़े हैं उनमें इटली भी है. लेकिन आधुनिक पीढ़ी इस खाने से धीरे धीरे दूर होती जा रही है.

खाने में सभी चीजों का मिश्रण अच्छा

बदलते दौर का मौसम

इटली एक ऐसा देश होता था जहां लंच ब्रेक तीन घंटे का होता था. घर में मां लजीज खाना पकाती. गुइलो मार्केसिनी कहते हैं कि अब ये लजीज और पौष्टिक खाने नहीं मिलते. बोलोनिया यूनिवर्सिटी के मेडिकल क्लीनिक में खाने पीने से जुड़ी बीमारियों के प्रमुख मार्केसिनी कहते हैं, "ये बदल गया क्योंकि वक्त बदल गया है." वे बताते हैं कि कैसे आधुनिक इतालवी हमेशा भागमभाग में रहता है, उसके पास खाने के लिए कोई वक्त नहीं, "कभी कभी हम खड़े खड़े खाते हैं और कभी साथ में कंप्यूटर पर भी कुछ कर रहे होते हैं या पढ़ रहे होते हैं." वह ये भी कहते हैं कि इटली में अब लोग डिब्बाबंद खाने का इस्तेमाल पहले से ज्यादा करने लगे हैं.

रोल मॉडल नहीं

आधुनिक इटली मोटापे से परेशान है और डायबिटीज भी लगातार बढ़ रही है, "बच्चों के मोटापे के मामले में इटली यूरोप में सबसे ऊपर है. और यह इसलिए चिंताजनक है क्योंकि बच्चों का मोटापा बड़े होने पर भी बना रहता है."

फल और सलाद सेहतमंद खाना

अधिकतर इतालवी जैतून का तेल, पास्ता और सब्जियां ज्यादा खाते हैं लेकिन सेहतमंद मेडिटरेयिन खाने से दूर हैं. अब जल्दी से बनने वाला हैम, सलामी, चीज ज्यादा खाया जाता है. उत्तरी इटली में खासकर लोग पोर्क, बीफ या जानवरों का मांस बहुत ज्यादा खाने लगे हैं.

सेहत को फायदा

पिछले एक दशक में नए शोध लगातार फायदेमंद मेडिटरेनियन खाने की बात कर रहे हैं कि इससे अल्जाइमर, पार्किंसन्स, कोरोनरी हार्ट डिसीज या दिल का दौरा नहीं पड़ता. और तो और कैंसर की आशंका भी कम हो जाती है.

इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड के वेस्टर्स ससेक्स अस्पताल ने उन 20 शोधों के नतीजे का तुलनात्मक अध्ययन किया. इसमें सात तरह के खानों के बारे में जानकारी ली गई और भूमध्यसागरीय खाने को सबसे अच्छा आंका गया.

रिपोर्टः डैनी मिट्जमान/आभा मोंढे

संपादनः ए जमाल

हमें फॉलो करें