हीरे से हारी दुनिया

हीरे से हारी दुनिया

पुरानी दीवानगी

भारत में हीरा काफी लंबे समय से पसंदीदा रत्न रहा है. मशहूर हीरा कोहीनूर (तस्वीर में) दुनिया को भारत की ही देन है.दक्षिण भारत की कृष्णा और गोदावरी नदियों के किनारे हीरे की खदानें थी.

हीरे से हारी दुनिया

ऐश्वर्य की निशानी

हीरे हमेशा से राजा महाराजोँ के मुकुटों और सिंहासन में लगाए जाते रहे. लेकिन इन्हें खोजने वाले मजदूर हमेशा अंधेरों से भरी जिंदगी जीते रहे. आज भी हीरों की चमक का एक कतरा भी इन तक नहीं पहुंचता.

हीरे से हारी दुनिया

मिलने में आसानी

पहले ही तुलना में आजकल हीरा काफी आराम से मिल जाता है, लेकिन किसी जमाने में फ्रांस ने प्रतिबंध लगा दिया था कि राजा ही हीरों का इस्तेमाल कर सकता है.

हीरे से हारी दुनिया

हीरा है हीरा

असली हीरा तो पत्थरों और चट्टानों के बीच खदानों से मिलता है लेकिन नकली हीरों की खेती की जाती है.

हीरे से हारी दुनिया

हीरों का ग्रह

वैज्ञानिकों ने हीरों वाला एक ग्रह भी ढूंढ निकाला है जो धरती से 10 खरब प्रकाश वर्ष दूर है.

हीरे से हारी दुनिया

कार्बन

कार्बन से पेट्रोलियम, कोयला, ग्रेफाइट तो बनता ही है, इसी से हीरे जैसा कीमती रत्न भी बनता है.

हीरे से हारी दुनिया

मजदूरी चवन्नी

हीरों का बाजार चाहे कितना ही फायदा देता हो लेकिन जो हीरे निकालते हैं उनके हालात बहुत बुरे होते हैं. अक्सर बच्चों को पत्थर तोड़ने में लगा दिया जाता. पत्थरों की धूल से सिलिकोसिस जैसी बीमारियां हो जाती हैं.

हीरे से हारी दुनिया

खूनी हीरे

अफ्रीका के सियेरा लियोन में गृहयुद्ध के लिए हीरों को ही जिम्मेदार माना जाता है. खूनी हीरों के मामले में लाइबेरिया के पूर्व राष्ट्रपति चार्ल्स टेलर और मशहूर मॉडल नाओमी कैंपबेल को भी गवाही देनी पड़ी थी.

हीरे से हारी दुनिया

कैंसर के लिए

गहनों में तो हीरा इस्तेमाल होता ही है. एक नई तकनीक में डॉक्टरों ने कैंसर के इलाज के लिए नैनो हीरा को शरीर में डाले जाने का प्रस्ताव रखा है.

ऐश्वर्य और विलासिता का प्रतीक हीरा. भारत का कोहिनूर दुनिया भर में मशहूर हीरा है. हीरा कार्बन है और दुनिया का सबसे कठोर खनिज.

मीडिया सेंटर से और सामग्री

हमें फॉलो करें