एक MMS ने ली महिला की जान

इटली में एक महिला की आत्महत्या ने प्राइवेसी को लेकर नई बहस छेड़ दी है. ये महिला कई महीनों से अपने एक सेक्स वीडियो को इंटरनेट से हटवाने के लिए संघर्ष कर रही थी.

31 साल की तिजियाना मंगलवार को दक्षिणी इटली में नेपल्स के नजदीक मुगनानो में अपनी एक आंटी के घर में लटकी पाई गई. एक साल पहले की बात है जब इस महिला ने सेक्स करते हुए अपना एक वीडियो कुछ दोस्तों को भेजा. इन लोगों में तिजियाना का पूर्व बॉयफ्रेंड भी था जिसे वो जलाना चाहती थी.

लेकिन यह वीडियो किसी ने इंटरनेट पर डाल दिया. देखते ही देखते यह वायरल हो गया और इंटरनेट पर तिजियाना का मजाक उड़ने लगा. इस वीडियो को इंटरनेट पर लगभग दस लाख लोगों ने देखा. शर्मिंदगी से बचने के लिए तिजियाना ने अपनी नौकरी छोड़ दी, टस्कनी में रहने लगी और अपना नाम बदलने की कोशिश भी की, लेकिन मुश्किलों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा.

देखिए, आपके दिमाग के साथ क्या करता है पोर्न

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

बार-बार देखो, हजार बार देखो

पोर्न देखते वक्त दिमाग में डोपामाइन बनता है जो आनंद देता है. अगली बार जब आप पोर्न देखेंगे तो उतने ही आनंद के लिए आपको ज्यादा डोपमाइन चाहिए होगा. उसके लिए आप या तो ज्यादा पोर्न देखेंगे या ज्यादा खतरनाक देखेंगे. इस तरह आपको लत लग जाएगी.

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

मोहे भूल गए सांवरिया

सेक्स करते वक्त या पोर्न देखते वक्त मस्तिष्क में कई रसायन बनते हैं जैसे ऑक्सिटोसिन और वासोप्रेसिन. ये याददाश्त के लिए जिम्मेदार होते हैं. जिस चीज को देखने में ज्यादा आनंद मिलता है, उसे दिमाग याद रख लेता है. पोर्न देखने के दौरान ये दोनों रसायन बनते हैं तो दिमाग पोर्न को याद रखने लगता है. बाकी चीजें पीछे चली जाती हैं.

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

देख भाई देख, बार-बार देख

सेक्स के दौरान कई सेरोटोनिन एजेंट्स बनते हैं जो हमें शांत करने का काम करते हैं. जब दिमाग इस भाव को पोर्न से जोड़ लेता है तो फिर सेक्स करने से ज्यादा देखने को उकसाने लगता है.

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

मैं पीता नहीं हूं, पिलाई गई है

केंब्रिज यूनिवर्सिटी के जर्नल में छपी एक स्टडी बताती है कि शराबी को शराब देखने में मजा आने लगता है क्योंकि शराब देखते ही उसके दिमाग के वे हिस्से ऐक्टिव हो जाते हैं जिन्हें रिवॉर्ड सेंटर्स कहा जाता है. ठीक ऐसा ही पोर्न देखने वालों के साथ होता है.

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

आपको देखकर देखता रह गया

पोर्न देखने से सेक्स की इच्छा कम होने लगती है क्योंकि मस्तिष्क को लगता है कि अगर देखने से ही आनंद पाया जा सकता है तो उस काम को करने की जरूरत नहीं है.

पोर्न क्या है, 6 गानों में जानिए

समझ मैनु आवे ना

जर्मनी में छपी एक स्टडी में सिमोन कून ने पाया कि जो लोग ज्यादा पोर्न देखते हैं उनके मस्तिष्क के कुछ हिस्से छोटे थे. अब ऐसा पोर्न देखने से हुआ या नहीं, इस निष्कर्ष पर तो नहीं पहुंचा जा सकता. लेकिन सोचिए, आप पोर्न देखते हैं तो आपके मस्तिष्क के समझदारी वाले हिस्से दूसरों से छोटे हैं.

वीडियो में उसे अपने प्रेमी से ये कहते हुए दिखाया गया है, 'तुम इसे फिल्मा रहे है? ब्रावो.' ये लाइन ना सिर्फ इंटरनेट पर एक मजाक बन गई बल्कि टी-शर्ट, स्मार्टफोन के कवर और अन्य चीजों पर भी इसे छापा गया.

लंबी अदालती लड़ाई के बाद तिजियाना के हक में फैसला देते हुए जज ने कहा कि वीडियो को फेसबुक समेत अलग अलग वेबसाइटों और सर्च इंजनों से हटा दिया जाए. लेकिन तिजियाना से कानूनी लागत के तौर पर 20 हजार यूरो का भुगतान करने को कहा गया. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक ये 'अंतिम अपमान' था जिसके बाद तिजियाना के सामने अपनी जान लेने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था.

नेपल्स के एक अखबार ने गुरुवार को लिखा, "क्यों अब भी ये तस्वीरें मौजूद हैं? क्यों अब भी लोग इस युवती का मजाक उड़ा सकते हैं जिनसे शर्मिंदगी के कारण अपनी जिंदगी खत्म कर दी है?"

जर्मनी में टीवी टाइम बढ़ा, सेक्स घटा

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

सोना बढ़ा, सेक्स घटा

अब जर्मन नागरिक जिन गतिविधियों को ज्यादा समय दे रहे हैं उनमें बागवानी और व्यायाम के अलावा दोपहर में सोना भी शामिल है. सर्वे में शामिल लोगों में से 30 फीसदी से भी कम लोगों ने बताया कि खाली समय में वे सेक्स को प्राथमिकता देते हैं.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

टीवी खा रहा है वक्त

सर्वे बताता है कि पिछले 25 साल में टीवी देखना जर्मनी की सबसे ज्यादा पसंदीदा गतिविधि रही. और इसका चलन बढ़ रहा है. 2016 में 97% लोगों ने कहा कि हफ्ते में कम से कम एक बार उन्होंने टीवी देखा और समय बिताने के लिए यह उनका सबसे पसंदीदा काम रहा.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

रेडियो सुनना

रेडियो पुराने जमाने की बात लगती है लेकिन जर्मनी में ऐसा नहीं है. रेडियो सुनना समय बिताने के लिए पसंदीदा कामों में दूसरे स्थान पर रहा. 90 फीसदी लोग खाली समय में रेडियो सुनना पसंद करते हैं.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

चटर-पटर

जर्मन लोगों को इंटरनेट या फोन पर चैटिंग या कॉलिंग करना भी पसंद आ रहा है. हालांकि नेट पर अकेले बैठकर चैटिंग करने से ज्यादा वे लोग फोन पर बात करना पसंद करते हैं.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

इंटरनेट सर्फिंग

युवाओं में इंटरनेट सर्फिंग समय बिताने का ज्यादा लोकप्रिय काम है. और सिर्फ समय बिताने के लिए ही नहीं, सामाजिकता में भी वे इंटरनेट का इस्तेमाल ज्यादा कर रहे हैं.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

खबरें पढ़ना

जर्मनी में अखबार और पत्रिकाएं पढ़ने वालों की संख्या में खासी गिरावट देखी गई है. ज्यादातर लोग अब इंटरनेट पर खबरें पढ़ना पसंद कर रहे हैं. लेकिन 73 फीसदी लोगों के लिए खबरें पढ़ना आज भी समय बिताने का अच्छा जरिया है.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

संगीत

संगीत सुनना अब लोगों की टॉप 10 प्राथमिकताओं से बाहर हो चुका है. फिर भी रेडियो पर संगीत सुनना उन्हें पसंद है. स्मार्ट फोन पर संगीत सुनने वालों की तादाद बढ़ी है.

टीवी टाइम बढ़ा, मुलाकातें घटीं

मिलना-जुलना

लोगों के बीच सीधे मुलाकात और बातचीत में कमी आई है. पिछले 10 साल में जर्मन लोगों के बीच दोस्तों, रिश्तेदारों से सीधा संवाद कम हुआ है. बच्चों के साथ भी अब वे कम समय बिता रहे हैं.

नेपल्स के अभियोजकों ने 'आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला' दर्ज किया है, लेकिन जजों के लिए ये तय करना मुश्किल होगा कि वे कौन से कारण थे जिनकी वजह से तिजियाना ने अपनी जान लेने का कदम उठाया. खबरें हैं कि इस मामले में चार लोगों से पूछताछ हो रही है. ये वही चार लोग हैं जिन्हें तिजियाना ने अपना वीडियो भेजा था. तिजियाना के परिवार ने इंसाफ मांगा है. इतालवी मीडिया में उनके हवाले से कहा गया है, "हम चाहते हैं कि न्यायिक व्यवस्था ऐसे कदम उठाए कि ये मौत बेकार न जाए."

एके/वीके (एएफपी)

हमें फॉलो करें